Sunday, 29 March 2020

Mohabbat dard bhari shayari

Mohabbat dard bhari shayari


काश मुझे भी कोई प्यार करेकाश मुझे पर भी कोई ऐतबार करेनिकलता हू यूही चाहत की तलाश मेकाश प्यार की राहो मे मेरा भी कोई इंतेज़ार करे 



दोस्ती उन से करो जो निभाना जानते हो,नफ़रत उन से करो जो भूलना जानते हो,ग़ुस्सा उन से करो जो मानना जानता हो,प्यार उनसे करो जो दिल लुटाना जानता हो.



उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है,उनसे कह नही पाना हमारी मजबूरी है,वो क्यूँ नही समझते हमारी खामोशी को,क्या प्यार का इज़हार करना जरूरी है.



हमारी किसी बात से खफा मत होना,नादानी से हमारी नाराज़ मत होना,पहली बार चाहा है हमने किसी को इतना,चाह कर भी कभी हमसे दूर मत होना.



गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है,कौन सी खूशबू मुझमें बसा गई हो तुम,जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा,ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गई हो तुम.


आग सूरज मैँ होती हैँ जलना जमीन को पडता हैँ,मोहब्बत निगाहेँ करती हैँ तडपना दिल को पडता हैँ.


तेरी ख़ामोशी हमारी कमजोरी हैं,कह नहीं पाना हमारी मज़बूरी हैं,क्यों नहीं समझते हमारी खामोशियो को,खामोशियो को जुबा देना बहुत जरुरी हैं.


ए खुदा मोहूबत भी तूने अजीब चीज बनाए है,तेरे ही बन्दे तेरी मस्जिद में तेरे ही सामने रोते है,लेकिन तुजे नहीं किसी और को पानेके लिये.


ख्वाइस तो यही है कि तेरे बाँहों में पनाह मिल जाये,शमा खामोस हो जाये और शाम ढल जाये,प्यार इतना करे कि इतिहास बन जाये,और तुम्हारी बाँहों से हटने से पहले शाम हो जाये.


दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था.


तन्हाई मैं मुस्कुराना भी इश्क़ है
इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है
यूँ तो रातों को नींद नही आती
पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है.


घर से बाहर वो नक़ाब मे निकली
सारी गली उनकी फिराक मे निकली
इनकार करते थे वो हमारी मोहब्बत से
ओर हमारी ही तस्वीर उनकी किताब से निकली.


तू चाँद और मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशियाना हमारा होता,
लोग तुम्हे दूर से देखते,
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता.


अरमान था तेरे साथ जिंदगी बिताने का,
शिकवा है खुद के खामोश रह जाने का,
दीवानगी इस से बढकर और क्या होगी,
आज भी इंतजार है तेरे आने का.


काटो के बदले फूल क्या दोगे,
आँसू के बदले खुशी क्या दोगे,
हम चाहते है आप से उमर भर की दोस्ती,
हमारे इस शायरी का जवाब क्या दोगे?


तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है,
जिसका रास्ता बहुत खराब है,
मेरे ज़ख़्म का अंदाज़ा ना लगा,
दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है.


धोखा दिया था जब तूने मुझे, 
जिंदगी से मैं नाराज था,
सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं, 
मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था.


बहुत खुबसूरत है आँखें तुम्हारी
इन्हें बना दो किस्मत हमारी
हमें नहीं चहिये ज़माने की खुशियाँ
अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी.


इस कदर हम उनकी मुहब्बत में खो गए, 
कि एक नज़र देखा और बस उन्हीं के हम हो गए, 
आँख खुली तो अँधेरा था देखा एक सपना था, 
आँख बंद की और उन्हीं सपनो में फिर सो गए


आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है,
 इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है, 
कोई संभाले मुझे, बहक रहे है मेरे कदम, 
वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है


"कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है,
जुदाई के बावजूद भी तुझपे अधिकार है.
तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही,
मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार है."


"आँखों से दूर दिल के करीब था, 
में उस का वो मेरा नसीब था. 
न कभी मिला न जुदा हुआ,
रिश्ता हम दोनों का कितना अजीब था."


"कुछ लम्हे खास हो जाते हैं, 
जब अपने साथ निभाते हैं, 
वो क्या कर जाते है उन्हें पता नहीं होता, 
वो यादो में कब बस जाते है ये हमें पतानहीं होता|"


"प्यार किया तो उनकी मोहबत नज़र आई, 
दर्द हुआ हमे तो पलके उनकी भर आई. 
दो दिलों की धड़कन में एक  बात नज़र आई, 
दिल तो उनका धड़का पर आवाज़ इस दिल से आई."


"देर रत जब किसी की याद सताए, 
ठंडी हवा जब जुल्फों को सहलाये. 
कर लो आंखे बंद और सो जाओ क्या पता, 
जिसका है ख्याल वो खवाबों में आ जाये."


"अपनी आँखों के समुन्दर में उतर जानेदे,
तेरा मुजरिम हूँ मुझे डूब के मर जाने दे,
वादा है तुम याद किया करोगे मुझे मुझसे भी ज्यादा, 
बस एक बार तुझ पर फना हो जाने दे|"


"न तस्वीर है आपकी जो दीदार किया जाये, 
न आप पास हो जो प्यार किया जाये, 
ये कैसा दर्द दिया है|
न कुछ कहा जाये, 
न कुछ सुना जाये|"


"दिल की बात दिल में छुपा लेते हैं वो, 
हमको देख कर मुस्कुरा देते हैं वो, 
हमसे तो सब पूछ लेते हैं, 
पर हमारी ही बात हमसे छुपा लेते हैं वो|"


"लोग पूछते हैं की तुम क्यूँ अपनी मोहब्बत, 
का इज़हार नहीं करते, 
हमने कहा जो लब्जों में बयां, 
हो जाये सिर्फ उतना हम किसी से प्यार नहीं करते."


"शाम के बाद मिलती है रात, 
हर बात में समाई हुई है तेरी याद. 
बहुत तनहा होती ये जिंदगी, 
अगर नहीं मिलता जो आपका साथ."


"कुछ मतलब के लिए ढूँढते हैं मुझको, 
बिन मतलब जो आए तो क्या बात है, 
कत्ल कर के तो सब ले जाएँगे दिल मेरा,
कोई बातों से ले जाए तो क्या बात है." 


"किताबों के पन्नो को पलट के सोचता हूँ,
 यूँ पलट जाए मेरी ज़िंदगी तो क्या बात है.
ख्वाबों मे रोज मिलता है जो, 
हक़ीकत में आए तो क्या बात है."


"चिंगारी का खौफ न दो हमें, 
दिल में आग का दरिया बसाये बैठे हैं. 
जल जाते कब के इस आग में, 
मगर खुद को आंसुओं में भिगोये बैठे हैं."


"कुछ लोग सितम करने को तैयार बैठे हैं,
कुछ लोग हम पर दिल हार बैठे हैं, 
इश्क को आग का दरिया ही समझ लीजिये, 
कुछ इस पार तो कुछ उस पार बैठे हैं."


"इश्क़ ऐसा करो कि धड़कन मे बस जाए,
सांस भी लो तो खुश्बू उसी की आए, 
प्यार का नशा आँखो पे ऐसा छाए, 
बात कोई भी हो,पर नाम उसी का आए."


"नही है हमारा हाल, 
कुछ तुम्हारे हाल से अलग, 
बस फ़र्क है इतना, 
कि तुम याद करते हो, 
और हम भूल नही पाते."


"ना दिल से होता है, 
ना दिमाग़ से होता है, 
ये प्यार तो इतफाक से होता है, 
पर प्यार कर के प्यार ही मिले, 
ये इतफाक किसी-किसी के साथ होता है." 


"आज हम हैं, कल हमारी यादें होंगी. 
जब हम ना होंगे, तब हमारी बातें होंगी. 
कभी पलटो गे जिंदगी के ये पन्ने, 
तो शायद आप की आँखों से भी बरसातें होंगी."


"जो रहते हैं दिल में, 
वो जुदा नही होते, 
कुछ अहसास लफ़्ज़ों में बयान नही होते, 
एक हसरत है उन्हे मानने की, 
वो इतने अच्छे हैं कि कभी खफा ही नही होते.."


"सामने ना हो तो तरसती हैं आँखे, 
बिन तेरे बहुत बरसती हैं आँखे, 
मेरे लिए ना सही इनके लिए आ जाओ, 
क्यूंकी तुमसे बेपनाह प्यार करती हैं आँखे." 


"तरस गये आपके दीदार को, 
दिल फिर भी आपका इंतज़ार करता है, 
हमसे अच्छा तो आपके घर का आईना है, 
जो हर रोज़ आपका दीदार करता है."


"एक सा दिल सबके पास होता है, 
फिर क्यों नही सब पे विश्वास होता है, 
इंसान चाहे कितना ही आम क्यूँ ना हो, 
वो किसी ना किसी के लिए तो ख़ास होता है."


"उमर की राह मे रास्ते बदल जाते हैं, 
वक़्त की आँधी मे इंसान बदल जाते हैं, 
सोचते हैं आपको इतना याद ना करें, 
लेकिन आँख बंद करते ही इरादे बदल जाते हैं."


"खूबियाँ इतनी तो नही हम मे, 
कि तुम्हे कभी याद आएँगे, 
पर इतना तो ऐतबार है हमे खुद पर, 
आप हमे कभी भूल नही पाएँगे.." 


"याद किसी को करना यह बात नही जताने की, 
दिल पर चोट देना आदत है जमाने की, 
हम आप को याद बिल्कुल नही करते, 
क्यूँ की याद करना एक निशानी है भूल जाने की."


"वो आँखो से यूँ शरारत करते हैं, 
अपनी अदाओं से यूँ क़यामत करते हैं, 
निगाहें उनके चेहरे से हटती ही नही, 
और वो हमारी नज़रो से शिकायत करते हैं."


"वो हमारा इमतिहान क्या लेगी,
मिलेगी नजरों से नजर तो नजर झुका लेगी,
उसे मेरी कब्र पर दिया जलाने को मत कहना,
वो नादान है दोस्तो अपना हाथ जला लेगी।" 


"चाहो तो दिल से मुझ को मीटा देना, 
चाहो तो मुझ को भुला देना,
पर ये वादा करो के,
कभी मेरी याद आये, तो
रोना मत सिर्फ मुस्कुरा देना, "


"दुआ करते है हम खुदा से,
ऎ खुदा हमारा प्यारा अपनी मंज़िल पाऐ,
उसकी राहो मे अँधेरा आए .. 
तो रोशनी के लिये हमॆ जलाऎ " 


"इसे पहलॆ की दिलो मॆ नफरत जागे, 
आओ एक शाम मोहब्बत मे बिता दि जाए .... 
करके कुछ मोहब्बत की बातें, 
शाम की मस्ती बांध दी जाये."


"तू देख या न देख,
तेरे दॆखनॆ का गम नहीं, 
पर तेरी यॆ ना दॆखनॆ की अदा दॆखनॆ से कम नहीं .."


"ये प्यारी निगाहॆं याद रहॆंगी,
मिलकर ना मिलने की अदा याद रहॆंगी,
मुमकिन नहीं की मॆं तुम्हॆ भुला दुं, 
और उमर भर तुम्हॆ भी मेरी याद रहॆगी."


"तुझे भुलकर भी ना भूल पायॆंगॆ हम,
बस यही ​​एक वादा निभा पाऎंगॆ हम.
मीटा देंगे खुद को भी जहाँ से लॆकिन,
तेरा नाम दिल से न मीटा पाऎंगॆ हम .. "


"वो नदिया नहीं आंसू थॆ मॆरॆ,जिनपर,
वो कश्ती चलातॆ रहे 
मंज़िल मीलॆ उन्हॆ ये चाहत थी मेरी,
इसलऎ हम आंसू बहातॆ रहे." 


"हमारा हर लम्हा चुरा लिया आपने, 
आँखों को इक चाँद दिखा दिया आपने.
हमॆ ज़िंदगी दि किसी और नॆ, 
पर प्यार इतना दॆखकर जीना सिखा दिया आपने."


"इस कदर हम यार को मनानॆ निकलॆ,
उसकी चाहत के हम दीवाने निकलॆ, 
जब भी उसॆ दिल का हाल बताना चाहा,
 तो उसकॆ होंठों से वक्त ना होनॆ के बहानॆ निकलॆ ..." 


"उनकी नजरों में छुपा आज भी एक राज़ था,
वही चेहरा वही लिबास था,
 कैसे यारों उनको बेवफा कहदु,
 आज भी उनके दॆखनॆ का वही अंदाज था." 


"जब आप किसी को चाहो तो ऎ मत सोचो की, 
वो आप को पसंद करता है की नही,
बस उसॆ इतना चाहो की उसॆ आप कॆ सिवा,
किसी और की चाहत पसंद ही ना आए ..." 


"ख्वाबों कॆ अंदर ज़िंदा मत रहो ..
बल्की अपने अंदर ख्वाब को ज़िदा रखो .
मोहब्बत उससॆ नही होती जो खूबसूरत हो.
खूबसूरत वो होती है जिससॆ मोहब्बत हो ..."


"मैने तुझको ही चाहा हैं,
तू ही मेरा पहला प्यार है,
मेरे दिल की तू ही धड़कन,
तेरा ही मुझको इंतजार के है."


"बादल कितने खुशनसीब हैं,
दूर रहकर भी जमीन पर बरसतॆ है,
हम कितने बदनसीब है,
पास रहकर भी मिलने को तरसतॆ  है .."


"तुम्हारी यादो की महक इन हवाओमॆ है
प्यार ही प्यार बिखरा इन फिजाओमॆ है
ऎसा न कि दुरीया दर्द बन जायॆ
अब तो आप कॆ आनॆ का इंतजार इन निगाहों को है"


"हर नज़र मुझे एक कशिश होती है,
हर दिल मॆ एक चाहत होती है,
मुमकीन नही हर एक के लिये
 ताज महल बनाना
पर हर दिल मुझे एक मुमताज रहती है ..."


"आपकी अदा से हम मदहोश हो गये
आप नॆ पलट कर देखा तो हम बॆहोश  हो गये
यही एक बात कहनी थी आपसॆ
ना जाने क्यूँ 
आपको दॆखतॆ ही  हम खामोश हो गये ..." 


"कल हलकी सी बरसात में हो गयी मुलाक़ात उनसे,
नज़रों की शबनम ने जैसे कर ली हो हर बात …उनसे,
उनकी आँखों में थी ऐसी कशिश के क्या कहें,
मेरे जिस्म के रोम रोम ने कर ली मोहब्बत उनसे" 


"उसका शुक्रिया कुछ इस तरह से अदा करूँ
वो करे बेवफाई और मैं सदा वफ़ा करूँ
मेरी मोहोब्बत ने बस इतना सिखाया मुझे
खुद मिट जाऊं पर उसके लिए दुआ करूँ"


"उसका इल्जाम है 
वह लगातार ताकता है मुझे 
लेकिन यह तो बता 
की ' मै ताकता हूँ'
यह  पता कैसे चला तुझे" 


"जब उसकी धुन में रहा करते थे,
हम भी चुप चुप जिया करते थे
लोग आते थे गजल सुंनाने,
हम उसकी बात किया करते थे
घर की दीवार सजाने के खातिर,
हम उसका नाम लिखा करते थे,
कल उसको देख कर याद आया हमे,
हम भी कभी मोहोब्बत किया करते थे,
लोग मुझे देख कर उसका नाम लिया करते थे"


"सितम को हमने बेरुखी समझा,
प्यार को हमने बंदगी समझा,
तुम चाहे हमे जो भी समझो,
हमने तो तुम्हे अपनी ज़िन्दगी समझा."


"कोई शाम आती है, तुम्हारी याद लेकर,
कोई शाम आती है, तुम्हारी याद देकर,
हमे तो इंतजार है, उस शाम का,
जो आये तुम्हे साथ लेकर…"


"जब भी कभी आप चाँद को,
देखो तो याद करना हमे,
ये सोचकर नहीं की कितना चमकता है,
वो उन सितारों में बल्कि,
ये सोच कर कितना तनहा है वो हजारों में." 


"हर नज़र को 1 निगाह का हक़ है,
हर नूर को 1 आह का हक़ है.
हम भी दिल लेकर आये है इस दुनिया में,
हमे भी तो 1 गुनाह करने का हक़ है" 


"सिर्फ चाहने से मुलाकात नहीं होती,
सूरज के साथ रात नहीं होती.
हम जिसे चाहते है,जान से भी ज्यादा,
सामने होते हुए भी बात नहीं होती." 


"उसको बस इतना बता देना,
इतना आसान नहीं हैं तुम्हे भुला देना.
तेरी यादें भी तेरे जैसी ही हैं,
उन्हें आता है बस रुला देना."


"बेवफाई का डर था तो प्यार क्यों किया,
तनहाई का डर था तो इकरार क्यों किया,
मुझसे मौत भी पूछेगी आने से पहले,
कि जो नहीं आने वाले थे,
तूने उनका इंतजार क्यों किया."


"बेशक वो नहीं करते बात कभी
फिर उनसे मिलने को दिल बेकरार क्यों है
उनकी याद तो अब रात को सोने भी नहीं देती
जाने हमको उनसे इतना प्यार क्यों है"


"तकदीर ने जैसा चाहा ढल गये हम,
यूं तो संभल कर चले थे फिर भी फिसल गये हम,
अपना यकीन है कि दुनिया बदल गयी,
पर सबका खयाल है कि बदल गये हम."


"एक रात वो मिले ख्वाब में,
हमने पुछा क्यों ठुकराया आपने.
जब देखा तो उनकी आँखों में भी आंसू थे,
फिर कैसे पूछते क्यों रुलाया आपने." 


"रिश्ता हमारा इस जहां में सबसे प्यारा हो
जैसे जिंदगी को सांसों का सहारा हो
याद करना हमें उस पल में
जब तुम अकेले हो और कोई ना तुम्हारा हो"


"काश वो नगमे सुनाये ना होते
आज उनको सुनकर ये आंसू आये ना होते
अगर इस तरह भूल जाना ही था
तो इतनी गहरायी से दिल में समाये ना होते"


"ना दिल से होता है,
ना दिमाग से होता है,
यह प्यार तो इत्तेफाक से होता है,
पर प्यार करके प्यार ही मिले,
ये इत्तेफाक किसी किसी के साथ होता है"


"आज फिर पल खूबसूरत है,
दिल में बस तेरी ही सूरत है,
कुछ भी कहे दुनिया हमें कोई गम नहीं,
दुनिया से ज्यादा मुझे तेरी जरूरत है।" 


"रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं,
प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं
इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने
अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं।"


"वो जो हमसे नफरत करते हैं,
हम तो आज भी सिर्फ उन पर मरते हैं,
नफरत है तो क्या हुआ यारो,
कुछ तो है जो वो सिर्फ हमसे करते हैं।" 


"न चाहो इतना चाहतों से डर लगता है,
ना आओ इतने करीब जुदाई से डर लगता है,
तुम्हारे प्यार पर यकीं है मुझे,
पर अपनी किस्मत से डर लगता है।"


"पहले कभी ये यादें ये तनहाई ना थी,
कभी दिल पे मदहोशी छायी ना थी,
जाने क्या असर कर गयीं उसकी बातें,
वरना इस तरह कभी याद किसी की आयी ना थी।"


"सितारों को रौशनी की क्या ज़रूरत,
ये तो खुद को जला लेते है.
आशिकों को वफ़ा की क्या ज़रूरत,
वो तो बेवफा को भी प्यार कर लेते है."


"हर प्यार में एक एहसास होता है,
हर काम का एक अंदाज होता है,
जब तक ना लगे बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपनी पसंद पे नाज़ होता है."


"उन्होंने अपना कभी बनाया ही नहीं,
झूठा ही सही प्यार दिखाया ही नहीं,
गलतियां अपनी हम मान भी जाते,
पर क्या करें कसूर हमारा हमें बताया ही नहीं."


"दोनों आखों मे अश्क दिया करते हैं
हम अपनी नींद तेरे नाम किया करते है
जब भी पलक झपके तुम्हारी समझ लेना
हम तुम्हे याद किया करते हैं"


"हम जिनके दीवाने है वो गैरों के गुण गाते थे,
हमने कहा आपके बिन जी ना सकेंगे,
तो हंस के कहने लगे,
के जब हम ना थे तब भी तो जीते थे.." 


"क्यों कोई अच्छा लगने लगता है, 
आहिस्ता - आहिस्ता ;
खुमार इश्क का चढ़ता है क्यों, 
आहिस्ता - आहिस्ता .
सफर में ज़िन्दगी के,
लोग तो बहुत मिलते ;
दिल में बस जाता कोई शख्स क्यों, 
अहिस्ता - आहिस्ता" 


"यह ख्वाइश हैं मेरी खुदा से, 
जिस चीज़ पे तू हाथ
रखे वो चीज़ तेरी हो और जिस से तू प्यार करे
वोह तकदीर मेरी हो"


"घांव इतना गहरा है बयां क्या करे
हम खुद निशाना बन गये अब वार क्या करे
जान निकल गयी मगर खुली रही आंखें
अब इससे ज्यादा उनका इंतझार क्या करे" 


"उसकी पलकों से आँसू को चुरा रहे थे हम
उसके ग़मोको हंसींसे सजा रहे थे हम
जलाया उसी दिए ने मेरा हाथ
जिसकी लो को हवासे बचा रहे थे हम "


"ये आरजू नहीं की किसी को भुलाए हम
ना तमन्ना की किसी को रुलाए हम
पर दुआ है रब से इतनी की
जिसको जितना याद करते है उसको उतना याद आये हम.." 


"हर नज़र को एक नज़र की की तलाश है,
हर दिल में छुपा एक एहसास है |
आप से प्यार युही नही किया हमने क्या करे हमारी पसंद ही कुछ ख़ास है"


"मुस्कुराते पलकों पे सनम चले आते हैं,
आप क्या जानो कहाँ से हमारे घूम आते हैं,
आज भी उस मोड़ पर खड़े हैं जहा किसी ने कहा था के ठेरों हम अभी आते हैं."


"बन के अजनबी मिले थे जिन्दगी के सफर में,
इन यादों के लम्हों को मिटायेंगे नही,
अगर याद रखना फितरत है आपकी,
तो वादा है हम भी आपको कभी भुलायेंगे नही" 


"नज़रे न होती तो नज़ारा न होता,
दुनिया मैं हसीनो का गुज़ारा न होता,
हमसे यह मत कहो की दिल लगाना छोड़ दे,
जा के खुदा से कहो हसीनो को बनाना छोड़ दे.."


"खाली खाली न यूँ दिल का मकां रह जाये
तुम गम-ए-यार से कह दो, कि यहां रह जाये
रूह भटकेगी तो बस तेरे लिये भटकेगी
जिस्म का क्या भरोसा ये कहां रह जाये" 


"शाम के बाद मिलती है रात,
हर बात में समाई हुई है तेरी याद.
बहुत तनहा होती ये जिंदगी,
अगर नहीं मिलता जो आपका साथ. "


"जब भी उनकी गली से गुज़रता हूँ,
मेरी आंखें एक दस्तक दे देती है,
दुःख ये नहीं, वो दरवाजा बंद कर देते है,
खुशी ये है, वो मुझे अब भी पहचान लेते हैं।" 


"वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी खामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें." 


"राह तकते है हम उनके इंतज़ार में,
साँसे भरते हैं उनके एक दीदार में,
रात न कटती है न होता है सवेरा,
जबसे दिल के हर कोने में हुआ है आपका बसेरा." 


"तुझे भूलकर भी न भूल पायेगें हम,
बस यही एक वादा निभा पायेगें हम,
मिटा देंगे खुद को भी जहाँ से लेकिन,
तेरा नाम दिल से न मिटा पायेगें हम."


"दिल में रहते थे जो नजरों से उतर गए
रिश्ते जैसे काँच के टुकड़े, ठेस लगी और टूट गए।"


"याद तो हर कोई करेगा जाने के बाद,
सच्चे प्यार का पता चल जाएगा वख्त आने के बाद,
कौन कितनी मुहोब्बत करता है,
नजर आएगा मर जाने के बाद |"


"दिल लगता नहीं है अब तुम्हारे बिना,
खामोश से रहने लगे है तुम्हारे बिना,
जल्दी लौट के आओ अब यही चाह है,
वरना जी ना पाएँगे तुम्हारे बिना |"


"यकीन नहीं तुझे अगर, तो आज़मा के देख ले,
एक बार तू, जरा मुस्कुरा के देख ले,
जो ना सोचा होगा तूने, वो मिलेगा तुझको भी,
एक बार आपने कदम,बढ़ा के देख ले |"


"आपने कहा मोहब्बत पूरी नहीं होती |
हम कहते हैं हर बार ये बात जरुरी नहीं होती ||
मोहब्बत तो वो भी करते हैं उनसे......|
जिन्हें पाने की कोई उम्मीद नहीं होती ||" 


"आँखों के सामने हर पल आपको पाया हैं,
अपने दिल में भी सिर्फ आपको ही बसाया हैं,
आपके बिना हम जिए भी तो कैसे........,
भला जान के बिना भी कोई जी पाया हैं." 


"तेरी चाहत में हम ज़माना भूल गये,
किसी और को हम अपनाना भूल गये,
तुम से मोहब्बत हैं बताया सारे जहाँ को,
बस एक तुझे ही बताना भूल गये......"


"तेरा ख़याल तेरी आरजू न गयी,
मेरे दिल से तेरी जुस्तजू न गयी,
इश्क में सब कुछ लुटा दिया हँसकर मैंने,
मगर तेरे प्यार की आरजू न गयी....." 


"हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना."


"तुझको मिल जायेगा बेहतर मुझसे,
मुझको मिल जायेगा बेहतर तुझसे,
फिर भी दिल में एक ख्याल आता हैं,
जानी तू जो मिल जाए तो बेहतर हैं सबसे."


"दिल में कोई और बसा तो नहीं,
ये चाहत इश्क की ज्यादा तो नहीं,
सब मुझे चाहने लगे हैं....,
कहीं मुझ में तुम्हारे जैसी कोई अदा तो नहीं."


"दिल में सिर्फ आप हो और कोई खाश कैसे होगा,
यादों में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा,
हिचकियाँ कहती हैं आप मुझे याद करते हो,
पर बोलोगे नहीं तो मुझे ये एहसास कैसे होगा."


"चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,
राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,
आप जो हमें इतना चाहेंगे.....,
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे."


"चिराग खुशियों के कब से बुझाए बैठे हैं,
कब दीदार होगी उनसे हम आश लगाए बैठे हैं,
हमें मौत आएगी उनकी ही बाहों में ......
हम मौत से ये सर्त लगाए बैठे हैं."


"तुझसे मिलने की बेताबी का वो अंजाम कैसे भुलादूँ,
तेरे लवो की हँसी और आँखों की जाम कैसे भुलादूँ,
दिल तो हमारा भी तड़पता हैं तेरा साथ पाने को,
पर इस जहाँ के रश्मो - रिवाज कैसे भुलादूँ."


"रात को रात का तोफा नहीं देते,
दिल को जजबात का तोफा नहीं देते,
देने को तो हम आप को चाँद भी दे दे,
मगर चाँद को चाँद का तोफा नहीं देते."


"वो वक्त वो लम्हे अजीब होंगे,
दुनियाँ में हम खुश नशीब होंगे,
दूर से जब इतना याद करते हैं आपको,
क्या हाल होगा जब आप हमारे करीब होगे."


"उनका हाल भी कुछ आप जैसा ही होगा,
आपका हाले दिल उन्हें भी महसूस होगा,
बेकरारी के आग में जो जल रहे हैं आप,
आपसे ज्यादा उन्हें इस जलन का एहसास होगा."


" एय मेरी जिन्दगी यूँ मुझसे दगा ना कर,
उसे भुला कर जिन्दा रहू दुआ ना कर,
कोई उसे देखता हैं तो होती हैं तकलीफ,
एय हवा तू भी उसे छुवा ना कर .....
















No comments:

Post a comment