Saturday, 22 February 2020






"दिल टूट गया है फिर भी कसक सीने में बाकी है
नशे मैं मदहोश हैं तो क्या पैमाने मैं जाम अब भी बाकी है."




"जिंदगी देने वाले,
मरता छोड़ गये,
अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये,
जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की,
वो जो साथ चलने वाले, रास्ता मोड़ गये."



"गुनाह करके सज़ा से डरते हैं,
जहर पी के दवा से डरते हैं,
दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं,
हम तो दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं."



"हर सागर के दो किनारे होते है,
कुछ लोग जान से भी प्यारे होते है,
ये ज़रूरी नहीं हर कोई पास हो,
क्योंकी जिंदगी में यादों के भी सहारे होते है."



"कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको,
चलो ऐसा करो भूला दो मुझको,
तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये
दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको."


"ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं."


"दिल को हमसे चुराया आपने,
दूर होकर भी अपना बनाया आपने,
कभी भूल नहीं पायेंगे हम आपको,
क्योंकि याद रखना भी तो सिखाया आपने."


"याद करते है तुम्हे तनहाई में,
दिल डूबा है गमो की गहराई में,
हमें मत धुन्ड़ना दुनिया की भीड़ में,
हम मिलेंगे में तुम्हे तुम्हारी परछाई में."


"मौत के बाद याद आ रहा है कोई,
मिट्ठी मेरी कबर से उठा रहा है कोई,
या खुदा दो पल की मोहल्लत और दे दे,
उदास मेरी कबर से जा रहा है कोई."


"दर्द को दर्द से न देखो,
दर्द को भी दर्द होता है,
दर्द को ज़रूरत है दोस्त की,
आखिर दोस्त ही दर्द में हमदर्द होता है"


"तन्हाई का उसने मंज़र नहीं देखा,
अफ़सोस की मेरे दिल के अन्दर नहीं देखा,
दिल टूटने का दर्द वो क्या जाने......,
वो लम्हा उसने कभी जी कर नहीं देखा."


" हमें न मोहब्बत मिली, न प्यार मिला,
हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला,
अपनी तो बन गई तमाशा जिंदगी,
हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला."


"आंसू से पलके भींगा लेता था,
याद तेरी आती थी तो रो लेता था,
सोचा था की भुला दूँ तुझको मगर,
हर बार ये फैसला बदल लेता था."


"उनकी तस्वीर को सिने से लगा लेते हैं,
इस तरह जुदाई का गम मिटा देते हैं,
किसी तरह कभी उनका जिक्र हो जाये तो,
भींगी पलकों को हम झुका लेते हैं."


"हर बार मुझे जख्म ए दिल ना दिया कर,
तू मेरी नहीं तो मुझे दिखाई ना दिया कर,
सच-झूठ तेरी आँखों से हो जाता हैं जाहिर,
क़समें ना खा, इतनी सफाई ना दिया कर."


"जिंदगी के रंग कितने निराले हैं,
साथ देने वाला हर कोई है लेकिन हम अकेले हैं,
पानी है मंजिल हमें मगर रास्तों में रुकावटे हैं,
खुशियों में सब साथ हैं, गमों में सब पराये हैं."


"बेताब सा रहते हैं तेरी याद में अक्सर,
रात भर नहीं सोते हैं तेरी याद में अक्सर,
जिस्म में दर्द का बहाना बना के.....,
हम टूट के रोते हैं तेरी याद में अक्सर."


"आप आँखों से दूर दिल के करीब थे,
हम आपके और आप हमारे नसीब थे,
न हम मिल सके, न जुदा हुवे......,
रिश्ते हम दोनों के कितने अजीब थे."


"आंसू से पलके भींगा लेता था,
याद तेरी आती थी तो रो लेता था,
सोचा था की भुला दूँ तुझको मगर,
हर बार ये फैसला बदल लेता था."


"क्या करूँगा उसका इंतज़ार कर के,
जब चली गई वो मुझे बर्बाद कर के,
सोचा था अपना भी एक जहाँ होगा,
मगर मिली सिर्फ तन्हाई उनसे प्यार कर के."


"हर सपना किसी का पूरा नहीं होता,
कोई किसी के बिना अधुरा नहीं होता,
जो रौशन करता हैं सब रातों को....,
वो चाँद भी तो हर रात पूरा नहीं होता."


"दिल यूँना कभी उदास होता,
जो कोई अपना हमारे पास होता,
यूँ तो हमने साथ दिया अक्सर अपनों का,
पर काश किसी को हमारी तन्हाई का एहसास होता."


"यादें होती हैं सताने के लिए,
कोई रूठता हैं फिर मनाने के लिए,
रिश्ता बनाना कोई मुस्किल तो नहीं,
बस जान चली जाती हैं उसे निभाने के लिए."


"आज हम भी एक नेक काम कर आए,
दिल की वसीयत किसी के नाम कर आए,
प्यार हैं उनसे ये जानते हैं वो......,
मज़बूरी थी जो झुकी नज़रों से इनकार कर आए."


"कहाँ वफा का सिला देते हैं लोग,
अब तो मोहब्बत की सजा देते हैं लोग,
पहले सजाते हैं दिलो में चाहतों का ख्वाब,
फिर ऐतबार को आग लगा देते हैं लोग."


"पत्थरों से प्यार किया नादान थे हम,
गलती हुई क्योकि इंशान थे हम....,
आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती हैं,
कभी उसी सक्स की जान थे हम....."


"ऐसा भी नहीं की उससे मिला दे कोई,
कैसी हैं वो बस इतना बता दे कोई....,
सुखी हैं बरी देर से पलकों की जुवा,
आज की रात तो जी भर के रुला दे कोई."


"मेरी उजरी दुनियाँ को तू आबाद न कर,
बीते लम्हों को तू फिर से याद न कर,
एक कैद परिंदे का हैं तुमसे यही कहना...,
मैं भूल चूका हूँ उरना मुझे फिर से आज़ाद न कर."


"मुझको रोते देख कर क्यों परेसान हो,
ये सबनम तो मेरी आँखों की जान हैं,
इतने गम के साये लगे हैं मेरे पीछे,
खुद मौत मेरी जिंदगी पे हैरान हैं ...."


"झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,
सब कुछ भुला के उनका इंतज़ार किया,
वो जान ही न पाई जजबात मेरे.....,
जिसे दुनियाँ में मैंने सबसे ज्यादा प्यार किया."


"क्यों बनाया मुझको आए बनाने वाले,
बहुत गम देते हैं ये जमाने वाले....,
मैंने आग के उजालों में कुछ चेहरों को देखा,
मेरे अपने ही थे मेरे घर जलाने वाले."


"रब उसे ऐसी तन्हाई न दे,
हम जी लेंगे तन्हा पर उसे तन्हाई न दे,
इन निगाहों में बसी रहे उसकी सूरत,
भले मेरी सूरत उसे दिखाई न दे."


"हर पल दिल को बहला लेता हूँ,
तन्हाई में खुद को ही दोस्त बना लेता हूँ,
याद उनको करके मुस्कुरा लेता हूँ,
गुजरे लम्हों को फिर करीब बुला लेता हूँ."


"कल रात वो मिली ख्वाब में,
हम ने पूछा क्यों ठुकराया आपने,
जब देखा तो उनकी आँखों में भी आँसू थे,
फिर कैसे पूछता क्यों रुलाया आपने."


"अपने दिल को अगर दुखाना हैं,
बहारों में अगर घर जलाना हैं....,
प्यार करो एक बेवफा से,
अगर मोहब्बत को आजमाना हैं."


"दर्द होता नही दुनियाँ को दिखाने के लिए,
हर कोई रोता नही आँसू बहाने के लिए,
रूठने का मज़ा तो तब आता हैं दोस्तों...,
जब अपना हो कोई मनाने के लिए...."


"हम अपना दर्द किसी को कहते नही,
वो सोचते हैं की हम तन्हाई सहते नही,
आँखों से आँसू निकले भी तो कैसे,
क्योकि सूखे हुवे दरिया कभी बहते नही."


"नदी जब किनारा छोर देती हैं,
राह की चट्टान तक तोर देती हैं,
बात छोटी सी अगर चुभ जाए दिल में तो,
जिंदगी के रास्तों को भी मोर देती हैं."


"दूर तक तन्हाई का सफर हैं,
न कोई साथी न हमसफर हैं,
चलते हैं दिल के सहारे ये सोच कर,
की अगले ही मोड़ पे खुशियों का सहर हैं."


"एक कसक दिल में दबी रह गई,
जिंदगी में उनकी कमी रह गई...,
इतनी उल्फत के बाद भी वो मुझे न मिली,
शायद मेरी किस्मत में ही कुछ कमी रह गई."


"खामोश बैठें तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं ..
ज़रा सा हँस लें तो मुस्कुराने की वजह पूछ लेते हैं"


"दर्द जब आंसुओं में ढल जाए 
मेरी आँखों में आके बह जाना 
भूल कर काश –म –कश ज़माने की 
मेरी बाहों में आके रह जाना.."


"भरोसा है खुदी पर, नाखुदा की इल्तिजा कैसी,
 मेरी कश्ती ही साहिल है, मेरी कश्ती में साहिल है।"


"उसके चले जाने के बाद हम महोबत नहीं करते किसी से .
छोटी सी जिन्दगी है .
किस किस को अजमाते रहेंगे."


"काश वो पल संग बिताए न होते
जिनको याद कर के ये आँसू आये ना होते
खुदा को अगर इस तरह दूर ले जाना ही था
तो इतनी गहराई से दिल मिलाए ना होते "


"हाथों की लकीरों मैं किस्मत होती है
मिलना और भूल जाना लोगो की फितरत होती है,
बिखरता तो हर कोई है दर्द में,
मगर गम भुलाना इंसान की जरुरत होती है."


"साथ नहीं रहने से रिश्ते नहीं टुटा करते
वक़्त की धुंध से लम्हे नहीं टुटा करते
लोग कहते हे मेरा सपना टूट गया
टूटी नींद है सपने नहीं टुटा करते."


"दर्द ज़ाहिर कभी करने नहीं देता मुझको
अश्क आंखों में भी भरने नहीं देता मुझको
जानता हूँ, कि मैं अब टूट चुका हूँ लेकिन
वो तो इक शख्स बिखरने नहीं देता मुझको."


"दर्द की दास्ताँ अभी बाकी है,
महोबत का इम्तेहान अभी अभी बाकी है,
दिल करे तो फिर से वफ़ा करने आ जाना,
दिल ही तो टुटा है,
जान अभी बाकी है.."


"मुद्तों के बाद उसको किसी के साथ खुश देखा तो एहसास हुआ ...
काश की उसको बहुत पहले हे छोड़ दिया होता ...."


"हसीं चेहरे पर कभी ऐतबार ना करना,
तोड देते हैं दिल कभी प्यार ना करना,
है गुजारिश सबसे मेरी, मर जाओगे,
वो ना आयेंगे कभी इंतजार ना करना.."


"वो आये हैं महफिल में मगर खुशी से नहीं,
वो बैठे हैं हमारे पास मगर दिल से नहीं,
कौन कहता है वो प्यार नहीं करते,
करते तो हैं मगर हमसे नहीं।"


"कोई रिश्ता टूट जाये दुख तो होता है,
अपने हो जायें पराये दुख तो होता है,
माना हम नहीं प्यार के काबिल
मगर इस तरह कोई ठुकराये दुख तो होता है।"


"वो समझें या ना समझें मेरे जजबात को,
मुझे तो मानना पड़ेगा उनकी हर बात को,
हम तो चले जायेंगे इस दुनिया से,
मगर आंसू बहायेंगे वो हर रात को"


"मेरे प्यार को दुनिया मे कोई समझ न पाया,
रोता था जब तन्हा कोई मेरे साथ न आया,
मिटा दिया खुद को उसके प्यार मे,
और लोग कहते हैं कि मुझे प्यार करना न आया"


"ना वोह आ सके ना हम कभी जा सके,
ना दर्द दिल का किसी को सुना सके.
बस बैठे है यादों में उनकी,
ना उन्होंने याद किया और ना हम उनको भुला सके."


"एक सिलसिले की उमीद थी जिनसे, 
वही फ़ासले बनाते गये, 
हम तो पास आने की कोशिश मे थे, 
जाने क्यूँ वो दूरियाँ बढ़ाते गये."


"अश्क बन कर आँखों से बहते हैं, 
बहती आँखों से उनका दीदार करते हैं, 
माना की ज़िंदगी मे उन्हे पा नही सकते, 
फिर भी हम उनसे बहुत प्यार करते हैं."


"ज़िंदगी की राहों मे आगे जाओगे, 
तो पीछे एक साया तुम हर दम पाओगेमुड़ कर देखोगे तो तन्हाई होगी, 
महसूस करोगे तो हमे पाओगे.."


"फरेब था हम आशिकी समझ बैठे, 
मौत को अपनी ज़िंदगी समझ बैठे, 
वक़्त का मज़ाक था या बदनसीबी, 
उनकी दोस्ती की दो बातों को, 
हम प्यार समझ बैठे."


"दास्तान-ए-गम उनको सुनाई ना गयी, 
बात बिगड़ी थी कुछ ऐसी की बनाई ना गयी, 
सबको भूल गये हम लेकिन, 
इक तेरी याद ऐसी थी की भुलाई ना गयी."


"इन हसीनो से तो कफ़न अच्छा है, 
जो मरते दम तक साथ जाता है, 
ये तो जिंदा लोगो से मुह मोड़ लेती हैं, 
कफ़न तो मुर्दों से भी लिपट जाता है."


"रात सुनती रही हम सुनाते रहे, 
दर्द की दास्ताँ हम बताते रहे , 
मिटा न सके यादें जिनकी दिल से, 
नाम लिख लिख कर उनको मिटाते रहे."


"वक़्त बदलता है हालात बदल जाते हैं, 
ये सब देख कर जज़्बात बदल जाते हैंये कुछ नही बस वक़्त का तक़ाज़ा है दोस्तो, 
कभी हम तो कभी आप बदल जाते हैं."


"दिल  में  है  जो  दर्द  वो  किसे  बताएं,
हँसते  हुए  ज़ख्म  किसे  दिखाएँ.
कहती  है  ये  दुनिया  हमे  खुशनसीब,
मगर  नसीब  की  दास्तान  किसे  सुनाएँ."


"मोहब्बत मुकदर है एक ख्वाब नही, 
ये वोह अदा है कि सब जिसमे कामयाब नही.
जिन्हें पनाह मिली उंगलियो पर गिनलो उन्हें,
मगर जिनके कतल हुए उनका कोई हिसाब नहीं."


"तकदीर ने जैसे चाहा ढल गए हम, 
यूं तो संभल के चले थे फिर भी फिसलगए हम. 
अपना यकीं है की दुनिया बदल गयी, 
पर सबका ख्याल है के बदल गए हम."



"हाथों की लकीरों मैं किस्मत होती है
मिलना और भूल जाना लोगो की फितरत होती है,
बिखरता तो हर कोई है दर्द में,
मगर गम भुलाना इंसान की जरुरत होती है."


"मुद्तों के बाद उसको किसी के साथ खुश देखा तो एहसास हुआ ...
काश की उसको बहुत पहले हे छोड़ दिया होता ...."



"हसीं चेहरे पर कभी ऐतबार ना करना,
तोड देते हैं दिल कभी प्यार ना करना,
है गुजारिश सबसे मेरी, मर जाओगे,
वो ना आयेंगे कभी इंतजार ना करना.."


"वो आये हैं महफिल में मगर खुशी से नहीं,
वो बैठे हैं हमारे पास मगर दिल से नहीं,
कौन कहता है वो प्यार नहीं करते,
करते तो हैं मगर हमसे नहीं।"


"कोई रिश्ता टूट जाये दुख तो होता है,
अपने हो जायें पराये दुख तो होता है,
माना हम नहीं प्यार के काबिल
मगर इस तरह कोई ठुकराये दुख तो होता है।"


"वो समझें या ना समझें मेरे जजबात को,
मुझे तो मानना पड़ेगा उनकी हर बात को,
हम तो चले जायेंगे इस दुनिया से,
मगर आंसू बहायेंगे वो हर रात को"


"मेरे प्यार को दुनिया मे कोई समझ न पाया,
रोता था जब तन्हा कोई मेरे साथ न आया,
मिटा दिया खुद को उसके प्यार मे,
और लोग कहते हैं कि मुझे प्यार करना न आया"


"ना वोह आ सके ना हम कभी जा सके,
ना दर्द दिल का किसी को सुना सके.
बस बैठे है यादों में उनकी,
ना उन्होंने याद किया और ना हम उनको भुला सके."


"एक सिलसिले की उमीद थी जिनसे, 
वही फ़ासले बनाते गये, 
हम तो पास आने की कोशिश मे थे, 
जाने क्यूँ वो दूरियाँ बढ़ाते गये."


"अश्क बन कर आँखों से बहते हैं, 
बहती आँखों से उनका दीदार करते हैं, 
माना की ज़िंदगी मे उन्हे पा नही सकते, 
फिर भी हम उनसे बहुत प्यार करते हैं."


"ज़िंदगी की राहों मे आगे जाओगे, 
तो पीछे एक साया तुम हर दम पाओगेमुड़ कर देखोगे तो तन्हाई होगी, 
महसूस करोगे तो हमे पाओगे.."


"फरेब था हम आशिकी समझ बैठे, 
मौत को अपनी ज़िंदगी समझ बैठे, 
वक़्त का मज़ाक था या बदनसीबी, 
उनकी दोस्ती की दो बातों को, 
हम प्यार समझ बैठे."


"दास्तान-ए-गम उनको सुनाई ना गयी, 
बात बिगड़ी थी कुछ ऐसी की बनाई ना गयी, 
सबको भूल गये हम लेकिन, 
इक तेरी याद ऐसी थी की भुलाई ना गयी."


"इन हसीनो से तो कफ़न अच्छा है, 
जो मरते दम तक साथ जाता है, 
ये तो जिंदा लोगो से मुह मोड़ लेती हैं, 
कफ़न तो मुर्दों से भी लिपट जाता है."


"रात सुनती रही हम सुनाते रहे, 
दर्द की दास्ताँ हम बताते रहे , 
मिटा न सके यादें जिनकी दिल से, 
नाम लिख लिख कर उनको मिटाते रहे."


"वक़्त बदलता है हालात बदल जाते हैं, 
ये सब देख कर जज़्बात बदल जाते हैंये कुछ नही बस वक़्त का तक़ाज़ा है दोस्तो, 
कभी हम तो कभी आप बदल जाते हैं."


"दिल  में  है  जो  दर्द  वो  किसे  बताएं,
हँसते  हुए  ज़ख्म  किसे  दिखाएँ.
कहती  है  ये  दुनिया  हमे  खुशनसीब,
मगर  नसीब  की  दास्तान  किसे  सुनाएँ."


"मोहब्बत मुकदर है एक ख्वाब नही, 
ये वोह अदा है कि सब जिसमे कामयाब नही.
जिन्हें पनाह मिली उंगलियो पर गिनलो उन्हें,
मगर जिनके कतल हुए उनका कोई हिसाब नहीं."


"तकदीर ने जैसे चाहा ढल गए हम, 
यूं तो संभल के चले थे फिर भी फिसलगए हम. 
अपना यकीं है की दुनिया बदल गयी, 
पर सबका ख्याल है के बदल गए हम."


"कल उसकी याद पूरी रात आती रही, 
हम जागे पूरी दुनिया सोती रही,
आसमान में बिजली पूरी रात होती रही,
बस एक बारिश थी जो मेरे साथ रोतीरही."


"नसीबों के खेल भी अजीब होते हैं, 
प्यार में आंसू ही नसीब होते हैं, 
कौन होना चाहता हे अपनों से जुदा, 
पर अक्सर बिछड़ते हैं वो जो करीब होते हैं.. "


"वो सूरज की तरह आग उगलते रहे, 
हम मुसाफिर सफ़र पर ही चलते रहे, 
वो बीते वक़्त थे, उन्हें आना न था, 
हम सारी रात करवट बदलते रहे."


,










No comments:

Post a comment